loader
Foto

चीन में कल राष्ट्रीय शोक, डॉक्टर ली वेनलियांग समेत 14 कोरोना शहीदों को याद करेगा...

*  चीन में अब तक कोरोना से 3,322 लोगों की मौत

*  डॉ. ली समेत 14 कार्यकर्ता शहीद घोषित किए गए

*  शहीदों में कम्युनिस्ट पार्टी के 8 कार्यकर्ता भी शामिल

कोरोना वायरस की वजह से हजारों लोगों को खोने वाला चीन कल यानी शनिवार को अपने शहीदों की याद में राष्ट्रीक शोक दिवस मनाएगा. इस शोक दिवस में कोरोना को दुनिया के सामने लाने वाले डॉक्टर ली वेनलियांग भी शामिल हैं जिनकी बाद में कोरोना की वजह से मौत हो गई. कोरोना की वजह से चीन में 3,300 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.

चीन की आधिकारिक मीडिया की ओर से शुक्रवार को बताया गया कि शनिवार को शोक दिवस के दिन पूरे देश में और विदेश में सभी चीनी दूतावासों और वाणिज्य दूतावासों में झंडे आधे झुके रहेंगे. सार्वजनिक मनोरंजक गतिविधियों को निलंबित कर दिया जाएगा.

3 मिनट का मौन - शनिवार सुबह 10 बजे से चीनी लोग देशभर में कोरोना से मारे गए लोगों के शोक में तीन मिनट का मौन रखेंगे, जबकि सायरन और हॉर्न के जरिए उन्हें याद किया जाएगा.

कोरोना को दुनिया के सामने लाने वाले डॉक्टर ली वेनलियांग समेत सेंट्रल चीन के हुबेई प्रांत के 14 फ्रंटलाइन कार्यकर्ताओं को गुरुवार को कोरोना के प्रकोप से निपटने में अपने प्राणों की आहुति देने के लिए शहीद के रूप में दर्जा दिया गया.

शहीदों के पहले समूह में 12 मेडिक्स, एक पुलिस अधिकारी और एक सामुदायिक कार्यकर्ता शामिल हैं जिन्होंने कोरोना के खिलाफ मोर्चे पर लड़ाई लड़ी.

वेनलियांग की मौत 7 फरवरी को हुई - जारी लिस्ट के अनुसार, 8 शहीद चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के कार्यकर्ता थे. इस लिस्ट में सबसे उम्रदराज शख्स की उम्र 73 साल है तो 30 वर्षीय युवक को सबसे युवा शहीद का दर्जा दिया गया है.

 

34 साल के डॉक्टर ली वेनलियानग जो एक नेत्र रोग विशेषज्ञ थे, और वह उन 8 लोगों में शामिल थे जिन्होंने सबसे पहले कोरोना वायरस के प्रकोप के बारे में अन्य चिकित्साकर्मियों को चेतावनी देने की कोशिश की थी, लेकिन स्थानीय पुलिस द्वारा उसे गंभीरता से नहीं लिया गया. बाद में कोरोना के संक्रमण के कारण उनकी 7 फरवरी को मौत हो गई.

Recent Posts