loader
Foto

कोरोना वायरस से परेशान पाकिस्तान, एक्सपर्ट्स ने दी पूरे देश को क्वारंटाइन करने की राय...

विश्वभर के लिए तबाही का कारण बने कोरोना वायरस ने कम आबादी वाले पाकिस्तान का हाल बेहाल कर दिया है। पाकिस्तान के डॉक्टरों का कहना है कि आने वाले दिनों में देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ सकती है क्योंकि हाल ही ईरान में तीर्थ कर देश लौटे 5600 लोग पूरे पाकिस्तान में फैल चुके हैं। 

इन तीर्थ यात्रियों को पाकिस्तान के तफ्तान (बलोचिस्तान) बॉडर्र जो ईरान के पास है पर रखा गया था। ईरान वायरस से सबसे अधिक प्रभावित देशों में से एक है। लेकिन क्वारंटाइन करने में अधिकारियों की कोताही के चलते ये मामले बढ़ गए। पाकिस्तान में कुल 301 मरीजों के अलावा दो की मौत हो चुकी है। इसमें से 208 मामले केवल सिंध प्रांत में हैं। केवल पूर्वी सिंध में 33 मामले हैं और 23 बलोचिस्तान में, 19 खैबर पख्तुनवा में और 2 इस्लामाबाद में। बुधवार को पाकिस्तान में 1621 लोगों का कोरोना वायरस जांच की गई। तेजी से मामलों के मद्देनजर एक्सपर्ट्स का राय है कि सारी फ्लाइटें बंद कर पूरे देश को क्वारंटाइन किए जाने की जरूरत है। 

भारत में 36 देशों से आने वाले यात्रियों के प्रवेश पर अस्थायी रोक - भारत ने कोरोना वायरस प्रकोप के मद्देनजर 36 देशों से आने वाले यात्रियों के प्रवेश पर अस्थायी रोक लगा दी है। वहीं 11 देशों के यात्रियों को अनिवार्य रूप से अलग रखा जाएगा। गृह मंत्रालय ने बुधवार को यह जानकारी दी। मंत्रालय ने यह भी कहा कि प्रतिबंधित देशों को छोड़कर 'ओवरसीज सिटीजन ऑफ इंडिया'(ओसीआई) कार्डधारकों को भारत में प्रवेश के लिये भारतीय मिशनों से ताजा वीजा लेना होगा। मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि 'कोई भी एयरलाइन ऑस्ट्रेलिया, बेल्जियम, बुल्गारिया, क्रोएशिया, साइप्रस, चेक गणराज्य, डेनमार्क, एस्टोनिया, फिनलैंड, फ्रांस, जर्मनी, ग्रीस, आइसलैंड, हंगरी, आयरलैंड, इटली, लातविया, लिकटेंस्टीन, लिथुआनिया, लक्जमबर्ग, माल्टा, नीदरलैंड, नॉर्वे, पोलैंड, पुर्तगाल, रोमानिया, स्लोवाकिया, स्लोवेनिया, स्पेन, स्वीडन, स्विटजरलैंड, तुर्की, ब्रिटेन से किसी भी यात्री को भारत नहीं लाएगी। यह आदेश 12 मार्च से प्रभावी हो चुका है।' इसके अलावा 17 मार्च से एयरलाइनों द्वारा फिलिपीन, मलेशिया और अफगानिस्तान से यात्रियों के लाने पर भी रोक लगा दी गई है।

Recent Posts