loader
Foto

ट्रंप की दूसरी चेतावनी- हमले की हिमाकत मत करना...

वॉशिंगटन: ईरान और अमेरिका के बीच चल रही तनातनी में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनॉल्ड ट्रंप का नया ट्वीट. ट्वीट में ट्रंप ने ईरान को चेतावनी देते हुए कहा है कि ईरान को हम सलाह देते हैं ऐसा ना करें. क्योंकि अगर वो ऐसा करते हैं तो फिर अमेरिका ऐसा हमला करेगा जैसा अब तक नहीं हुआ है. ट्र्ंप ने ट्वीट में लिखा, "उन्होंने हमला किया और हमने उसका जवाब दिया. अगर वो फिर से हमला करेंगे, जो कि मैं उन्हें सलाह देता हूं कि वो ना करें तो हम उन पर और जोरदार हमला करेंगे जैसा अब तक कभी नहीं हुआ.''

ट्रंप के इस ट्वीट के बाद दोनों देशों के बीच का तनाव बढ़ना और तय है. एक तरफ जहां अमेरिकी राष्ट्रपति हमले की चेतावनी दे रहे हैं वहीं दूसरी ओर ईरान ने मस्जिद पर लाल झंडा फहराकर युद्ध और बदले का एलान कर दिया है. शिया परंपरा के मुताबिक मस्जिद पर लाल झंडा युद्ध का प्रतीक और बदला लेने का प्रतीक होता है दरअसल कई दशकों से एक दूसरे के दुश्मन अमेरिका और ईरान की दुश्मनी नए दशक की शुरूआत में और ज्यादा बढ़ गई है. परसों अमेरिका ने ईरान के कमांडर कासिम सुलेमानी को बगदाद में एयर स्ट्राइक में मौत के घाट उतार दिया था. वहीं ईरान समर्थित संगठन हशद अल शाबी को भी अमेरिका ने कल इराक में निशाना बनाया. जिसके बाद बीती रात अमेरिका के दो ठिकानों पर रॉकेट से हमला किया गया. पहला हमला अमेरिकी दूतावास पर हुआ जबकि दूसरा हमला एयरफोर्स बेस पर किया गया।

ये हमला ईरान का अमेरिका से बदला कैसे हो सकता है. इसके समझने के लिए आपको कासिम सुलेमानी की बेटी जेनाब सुलेमानी और ईरान के राष्ट्रपति हसन रोहानी की बातचीत जाननी चाहिए. कासिम सुलेमानी की बेटी जेनाब सुलेमानी ने राष्ट्रपति हसन रोहानी से कहा, ''मिस्टर रोहानी जब मेरे पिता के दोस्तों को खून बहता था तो वो बदला लेते थे. अब मेरे पिता के खून बहने का बदला कौन लेगा?'' इसके जवाब में राष्ट्रपति रोहानी ने कहा, '' बिल्कुल मिलेगा. शहीद के खून का बदला लिया जाएगा, चिंता मत करो.'' इराक में अमेरिका के ठिकानों पर हुआ हमला बगदाद में अमेरिका के एयर स्ट्राइक के बाद से हुआ है. इस हमले में ईरान का टॉप कमांडर कासिम सुलेमानी मारा गया था. अमेरिका के राष्ट्रपति ने इस हमले के बाद साफ साफ कहा था कि अमेरिका को नुकासान पहुंचाने वालों को ढूंढकर

Recent Posts